For the best experience, open
https://m.khabardevbhoomi.com
on your mobile browser.
Advertisement

Madarsa Scholarship: सरकार ने मदरसों की स्कॉलरशिप पर लगाई रोक, बताई ये बड़ी वजह।

11:52 AM Nov 28, 2022 IST | Khabar Devbhoomi Desk
madarsa scholarship  सरकार ने मदरसों की स्कॉलरशिप पर लगाई रोक  बताई ये बड़ी वजह।
Advertisement

MADARSAMadarsa Scholarship: केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश के मदरसों की स्कॉलरशिप पर रोक लगाई है। अब उत्तर प्रदेश के मदरसों में कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों को मिलने वाली छात्रवृत्ति नहीं दी जाएगी। केंद्र सरकार ने इसको लेकर निर्देश भी जारी कर दिया है। अभी तक मदरसों में 1 से 5 तक के बच्चों को 1000 रुपये तक की स्कॉलरशिप दी जाती थी। वहीं कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को अलग-अलग कोर्स के हिसाब से छात्रवृत्ति दी जाती थी।

Advertisement

सरकार ने बताई ये बड़ी वजह

पिछले साल करीब 5 लाख बच्चों ने छात्रवृत्ति का लाभ उठाया, जिसमें 16,558 मदरसे शामिल थे। केंद्र सरकार के मुताबिक शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत कक्षा 1 से 8 तक की शिक्षा मुफ्त प्रदान की जाती है। इन मदरसों में मिड-डे मील और किताबें भी मुफ्त हैं। इसके अलावा, छात्रों के लिए अन्य आवश्यक वस्तुएं भी दी जाती हैं। इसलिए छात्रवृत्ति रोक दी गई है। इसलिए सिर्फ कक्षा 9 और 10 के छात्रों को ही छात्रवृत्ति दी जाएगी और उनके ही आवेदनों को सिर्फ आगे बढ़ाया जाएगा।

GM Crops: आखिर क्या होती हैं जीएम फसलें? पढ़िये इनसे भारतीय कृषि को फायदा होगा या नुकसान!

यूपी सरकार ने पहले ही लगा दी थी रोक

बता दें कि हर साल की तरह इस साल भी नवंबर में मदरसों के बच्चों ने छात्रवृत्ति आवेदन किया था। लेकिन केंद्र सरकार ने अचानक छात्रवृत्ति बंद करने का फैसला कर लिया है। हालांकि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इसे पहले ही बंद करवा दिया था। योगी सरकार ने हाल ही में मदरसों में उनकी आय के स्रोत का पता लगाने के लिए सर्वे कराया था। इस सर्वे में 8496 मदरसे गैर मान्यता प्राप्त पाए गए हैं। सर्वे में इन मदरसों के आय का स्रोत (यानी दान किया हुआ पैसा) के बारे में भी बताया गया है। ऐसे में अब उत्तर प्रदेश की सरकार मदरसों की फंडिंग को लेकर जांच करवाएगी। मदरसों के सर्वे को लेकर कई मुस्लिम संस्थाओं ने इसका विरोध भी किया है।

Advertisement


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें Instagram, Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube


 

Advertisement
Tags :
Advertisement